क्या हनुमान जी आज भी जिंदा है? Lord Hanuman Still Alive In Hindi

Hanuman Ji Jinda Hai
Hanuman Ji Jinda Hai

Kya Hanuman Ji Aaj Bhi Jinda Hai Janne Ke Bad Aapko Bhi Yakin Nahin Hoga

हनुमान जी को कलयुग का जीवित देव कहां जाता है भगवान हनुमान आज भी जिंदा है इस बात को बताने की जरूरत नहीं है कि भगवान हनुमान अमर थे । हिंदू धार्मिक ग्रंथों में सभी देवताओं के स्वर्ग में वापस जाने की कहानियां देखने और सुनने को मिलती है शेष रहते हनुमान जी, किसी भी ग्रंथ में हनुमान जी के मरने और स्वर्ग में जाने की बात देखने को नहीं मिलती है कुछ महान लोगों ने उनके दर्शन करने की बात भी कही है जिसमें तुलसीदास, स्वामी रामदास जैसे महापुरुष शामिल है । हनुमान जी को मानने वाले लोग कहते हैं कि हनुमान जी हर उस स्थान पर मौजूद है जहां उनके भक्त उन्हें सच्चे दिल से बुलाते हैं ।
दुनिया भर में कई ऐसी जगह है जहां ऐसे पैरों के निशान बने हुए हैं जिन्हें देखने के बाद पता चलता है कोई ऐसा जीव मौजूद है जो आकार में बेहद विशाल है, दुनियाभर के अलग अलग देशों में यह पैरों के निशान काफी संख्या में पाए गए हैं । वैज्ञानिकों का यह दावा है कि यह निशान किसी ऐसे जीव के हैं जिसका शरीर काफी विशाल रहा होगा, कहते हैं जब भगवान राम ने अपना मानव शरीर छोड़ दिया था तो हनुमान अयोध्या छोड़कर भगवान राम की याद में श्रीलंका के जंगलों में पिदरु पर्वत पर चले गए । यहां के लोगों ने हनुमान जी की बहुत सेवा की, उनकी भक्ति और सेवा से खुश होकर उन्हें यह वचन दिया कि वह हर 41 साल बाद उनके कबीले के साथ रहने आएंगे और आत्मज्ञान देंगे साथ ही हनुमान जी ने उन्हें एक मंत्र भी दिया ।

कालतन्तु कारेचरन्ति एनर मरिष्णु ।
निर्मुक्तेर कालेत्वम अमरिष्णु ।।

और इस मंत्र को देते हुए कहां जब भी तुम मेरे दर्शन करना चाहो तब यह मंत्र पढ़ना में पलक झपकते ही आ जाऊंगा ‌। कबीले वालो ने हनुमान जी से पूछा अगर यह मंत्र किसी और के हाथ लग गया और वह इसका गलत इस्तेमाल करने लगा तो, तब हनुमानजी ने उनसे कहां कि यह मंत्र सिर्फ उस इंसान के लिए काम करेगा जिसको अपनी आत्मा का मुझसे जुड़े रहने का एहसास होगा और जहां यह मंत्र पढ़ा जाएगा वहां से 980 मीटर तक ऐसा कोई भी इंसान नहीं होना चाहिए जो मुझमें सच्चा विश्वास ना रखता हो । यह जंगली आदिवासी समुदाय आज भी मौजूद है और श्रीलंका के जंगलों में बाहरी समाज से एकदम दूर है इनका रहन सहन पहनावा और भाषा भी एकदम अलग है ।
सेतु संगठन के अनुसार इस कबीले के समूह को मातंग लोगों का समाज कहां जाता है इस समुदाय पर लोगों का ध्यान तब गया जब सेतु नामक एक संगठन ने उन्हें और अच्छी तरह जानने के लिए जंगली जीवन शैली अपनानी शुरू की और उनसे संपर्क साधना शुरू किया । उन समूहों से जो जानकारी उन्हें मिली वह बेहद ही चौंका देने वाली थी, अध्ययनकर्ताओं के अनुसार मातन्गो के हनुमान जी के साथ विचित्र संबंध है फिर इनकी विचित्र गतिविधियों पर गौर किया गया तो पता चला यह सिलसिला रामायण काल से चला आ रहा है । जब हनुमान जी उनके साथ होते हैं तब वह यह गतिविधियां करते हैं सेतु संगठन के अनुसार जब हनुमान जी मातन्गो के पास हर 41 साल बाद रहने आते हैं तो उस समय उनके द्वारा किए गए कार्यों और उनके द्वारा बोले गए शब्दों का प्रत्येक मिनट का वर्णन उन आदिवासियों के मुख्य बाबा मातंग अपनी हनु पुस्तिका में नोट करते रहते हैं ।
2014 में जब हनुमान जी यहां आए थे तो उस दौरान हनुमान जी द्वारा की गई सभी लीलाओं का विवरण भी इस पुस्तिका में नोट किया गया है सेतु संगठन ने यह दावा किया, उनके संत विदरु पर्वत की तलहटी में स्थित अपने आश्रम में एक पुस्तिका को समझकर इसका आधुनिक भाषा में अनुवाद करने का प्रयास कर रहे हैं । लेकिन इन आदिवासियों की भाषाएं जितनी पेचीदा है तो हनुमान जी की लीलाएं भी उससे कहीं ज्यादा पेचीदा बताई जा रही है जिस कारण इस पुस्तिका को समझने में काफी समय लग रहा है । इन लोगों के अनुसार हनुमान जी आज भी जिंदा है और हिमालय के जंगलों में रहते हैं हनुमान जी 17 मई 2014 को इनसे मिलने आए थे अब वह 41 साल बाद यानी 2055 में फिर से आएंगे ।
उन्होंने बताया पिछले साल एक रात कैसे उन्हें हनुमान जी ने दर्शन दिए, सेतु अनुसार हनुमान जी ने मातन्गो को एक बच्चे की पिछले जन्म की कहानी सुनाई और उन्होंने बताया कैसे हनुमान जी ने मातन्गो के साथ शहद की खोज की और वहां क्या क्या घटनाएं घटित हुई । उन्होंने समय की अवधारणा को भी बताया जब मनुष्य समय के बारे में सोचता है तो उसके मन में घड़ी का विचार आता है लेकिन हनुमान जी तो चिरंजीवी थे, हनुमान जी और अन्य देवों के लिए धरती का समय क्षणिक है मनुष्य का 1 बर्ष देवी देवताओं के 1 दिन के बराबर ही होता है ।

About The Post 

इस आर्टिकल में Hanuman Ji Jinda Hai से संबंधित हनुमान जी आज भी जिंदा है के बारे में बताया गया है अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा तो अपने फ्रेंड्स के साथ शेयर करें । अगर आप इस आर्टिकल से संबंधित कुछ भी पूछना चाहते हैं तो हमें कमेंट करकर बताएं, हम आपको जवाब जरूर देंगे ।

एक टिप्पणी भेजें

If you have any doubts, Please let me know